जम्मू-कश्मीर: हंदवाड़ा में फिर आतंकी हमला, CRPF के तीन जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला किया है. इस हमले में तीन जवान शहीद हो गए. इसके अलावा सात जवान घायल हुए हैं. सोमवार को हंदवाड़ा जिले के वनगाम इलाके में आतंकियों ने सीआरपीएफ के दल पर हमला किया. 

जम्मू-कश्मीर: हंदवाड़ा में फिर आतंकी हमला, CRPF के तीन जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला किया है. इस हमले में तीन जवान शहीद हो गए. इसके अलावा सात जवान घायल हुए हैं. 4 मई को हंदवाड़ा जिले के वनगाम इलाके में आतंकियों ने सीआरपीएफ के दल पर हमला किया. 

एक दिन पहले ही यानी कि 3 मई को जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकी हमले में 5 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे और आज फिर वहीं सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग टीम पर आतंकी हमला हुआ है. मिली जानकारी के अनुसार इस हमले में सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो गए. सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच एनकाउंटर जारी है.

अधिकारियों ने बताया कि जिले में क्रालगुंद क्षेत्र के वंगाम-कजियाबाद में हमलावरों ने सीआरपीएफ की एक नाका पार्टी पर गोलियां चलाईं गई. अधिकारियों के अनुसार, इस हमले में सीआरपीएफ के तीन जवानों की मौके पर ही शहीद हो गए. उन्होंने बताया कि इलाके को घेर लिया गया है तथा हमलावरों को ढूढने के लिए अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी वहां भेजे गये हैं.

गौरतलब है कि रविवार को उत्तर कश्मीर के रजवार जंगल स्थित एक गांव में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में एक कर्नल और एक मेजर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए तथा दो आतंकवादी भी मारे गए थे. हाल के वर्षों में सेना को हुआ यह सबसे बड़ा नुकसान है.

शहीद हुए सुरक्षाकर्मियों में कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद, नायक राजेश और लांस नायक दिनेश शामिल थे. ये सभी ब्रिग्रेड ऑफ द गार्ड्स रेजीमेंट से थे और वर्तमान में 21 राष्ट्रीय राइफल्स का हिस्सा थे जो कि आतंकवाद निरोध के लिए तैनात है. साथ ही जम्मू कश्मीर पुलिस के उपनिरीक्षक सगीर अहमद पठान उर्फ काजी भी आतंकवादियों की गोलियां लगने से शहीद हो गए. इससे पहले वर्ष 2015 में आतंकवाद की अलग-अलग घटनाओं में दो कर्नल रैंक के अधिकारी शहीद हुए थे.