ज्यादा गर्मी लगने से हो सकती है मौत, जानिए क्यों  होता है ऐसा और क्या हैं इसके बचाव? 

एक तरफ जंहा देश के कई हिस्सों में मानसून ने दस्तक दे दी है, तो वही दूसरी तरफ कई ऐसे राज्य भी है जहां अब भी भयंकर गर्मी का आलम है। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मूताबिक, हिंदूस्तान में पिछले 50 सालों के इतिहास में गर्मी से लगभग 17,000 लोगों की मौत हो चुकी है।

ज्यादा गर्मी लगने से हो सकती है मौत, जानिए क्यों  होता है ऐसा और क्या हैं इसके बचाव? 
Hot Seasion

एक तरफ जंहा देश के कई हिस्सों में मानसून ने दस्तक दे दी है, तो वही दूसरी तरफ कई ऐसे राज्य भी है जहां अब भी भयंकर गर्मी का आलम है। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मूताबिक, हिंदूस्तान में पिछले 50 सालों के इतिहास में गर्मी से लगभग 17,000 लोगों की मौत हो चुकी है। अब ऐसे में बहुत सारे सवाल उठमा भी लाजमी है, जैसे कि गर्मी से इंसान की मौत क्यों हो जाती है और इससे बचाव के उपाय क्या हैं?  इन सब बातों का जवाब हम इस लेख में बताने जा रहे हैं। 

आखिर गर्मी से मौत की वजह क्या है? 

डॉक्टर्स के अनुसार गर्मी के दिनों में बहुत देर तक बहार रहने से गर्म हवा यानी लू लगने की आशंका काफी हद तक बड़ जाती है। ऐसी स्थिति में यदि तुरंत इलाज ना मिले तो इंसान की हालत खराब हो सकती है जैसे दिल, दिमाग, मांशपेशियों और किडनी पर इसका असर हो सकता है। बता दें कि इंसान के शरीर में पड़ने वाली गर्मी के कई स्ट्रेस हो सकती हैं, जिसमें शरीर का तापमान सामान्य से अधिक हो जाता है। ऐसी स्थिति में इंसान को डॉक्टर्स के पास जाकर प्रारंभिक उपचार करना ही बचाव का एकमात्र उपाय होता है। 

क्या हैं लक्षण? 

शरीर में गर्मी बढ़ने के कई लक्षण हो सकते हैं, जैसे शरीर का तापमान बढ़ना, मानसिकता में बदलाव होना, चींजों के बारे में ठीक से समझ में ना आना, बोलने में कठनाई, चिड़चिड़ापन, दौरा, कोमा, सूखा शरीर व पसीना नहीं आना।