Lockdown Weddings: क्या आपने देखी हैं ऐसी अनोखी शादियां?

Lockdown Weddings: क्या आपने देखी हैं ऐसी अनोखी शादियां?
Lockdown Weddings: क्या आपने देखी हैं ऐसी अनोखी शादियां?

लॉकडाउन में एक तरफ जहां लोगों की जिदंगी के तौर-तरीके में बदलाव आया है, वहीं कुछ ने ऐसे माहौल के बीच नई जिंदगी की शुरुआत कर ली है. लॉकडाउन में कई लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने शादी की रस्मों को नहीं रोका है. सादगी के साथ सात फेरे लेकर एक दूसरे के लिए खुद को लॉक कर लिया, वो भी पूरे नियम के साथ. आज हम आपको ऐसी ही कुछ अनोखी शादियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो इस LOCKDOWN के दौरान हुई हैं. 

नियम-शर्तों वाली शादी

मध्यप्रदेश के बैतूल में एक शादी सम्पन्न हुई, वो भी पूरी सादगी के साथ, बिना बैंड-बाजा और बाराती घर के ड्रॉइंग रूम में शादी की रस्में पूरी की गई.

ऐसी ही एक और शादी नीमच में भी हुई. जिसमें ना तो कोई समारोह किया गया और ना ही नाते-रिश्तेदारों को बुलाया गया. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पूरे विधि-विधान के साथ शादी हुई. वहीं मंदसौर में भी बिना घोड़ी चढ़े दूल्हा अपनी दुल्हन को लेने पहुंच गया. सिर्फ परिवारवालों की उपस्थिति में ही वरमाला डाली गई और सात फेरे लिए गए. खास बात थी कि इन शादियों में नियमों के तहत दूल्हा-दुल्हन और पंडित के साथ सभी ने भी मास्क पहन रखा था.

ये है शासन वाली शादी 

आपको बता दें कि इस शादी में शासन के सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया गया. यहां भी बिना बैंड-बाजा दूल्हा घोड़ी चढ़ा. यहां तक कि शादी में किसी मेहमान को भी नहीं बुलाया गया था. सिर्फ परिवारवालों की उपस्थिति में ही वरमाला डाली गई और सात फेरे हुए. शादी के लिए परिवारवालों ने जिला कलेक्टर से शादी की परमीशन ली और शुभ मुहूर्त पर शादी सम्पन्न करवाई.

इसके अलावा नीमच और मंदसौर में भी ऐसी दो शादियां करवाई गई हैं. लोगों का मानना है कि शादी दो परिवारों और दो दिलों का मेल होता है, ऐसे में लॉकडाउन उनके इस नए रिश्ते को किसी भी तरह लॉक नहीं कर सकता.