क्या आपको पता है? जमीन के अंदर बसा है ये गांव, अंदर नजारा है कुछ ऐसा, जानकर हैरान हो जाएंगे आप 

आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं, जो न तो किसी पहाड़ी के ऊपर बसा और न ही किसी नदी के किनारे और न ही किसी सुदूर देहात में, बल्कि यह गांव जमीन के अंदर बसा है।

क्या आपको पता है? जमीन के अंदर बसा है ये गांव, अंदर नजारा है कुछ ऐसा, जानकर हैरान हो जाएंगे आप 
VILLAGE

आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे हैं, जो न तो किसी पहाड़ी के ऊपर बसा और न ही किसी नदी के किनारे और न ही किसी सुदूर देहात में, बल्कि यह गांव जमीन के अंदर बसा है। क्यों...जानकर हैरान रह गए न आप...सोचकर भी ताज्जुब होता है कि भला कोई गांव जमीन के अंदर कैसे हो सकता है, लेकिन आपको बता दें कि यह गांव जमीन के अंदर है और नजारा कुछ ऐसा है, जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। तमाम तरह की सुख सुविधाओं से युक्त इस गांव की खास बात यह है कि यहां हॉलीवुड की बेशुमाऱ फिल्मों की शूटिंग की जा चुकी है। यहां लोगों का निवास भी है। उनकी सुख-सुविधाओं के लिए तमाम वस्तुएं भी यहां उपलब्ध हैं। आम जरूरतों की तमाम वस्तुएं इस गांव में उपलब्ध हैं। जब कभी-भी किसी को इस गांव के बारे में पता चलता है तो उसके होश कुछ इस कदर फाख्ता हो जाते हैं कि उसे शब्दों में बयां करना ही मुश्किल है। 

कहां स्थित है यह गांव 

इस गांव का नाम कुबड़ पेड़ी है, जो दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में स्थित है। यहां ओपल की कई खदाने हैं। यहां स्कूल, कॉलेज, रेलवे स्टेशन, मेट्रो तक की सुविधाएं उपलब्ध है। यहां लोगों की बाशिंदा भी है। जिस तरह से जिंदगी पृथ्वी पर रहकर लोग जीते हैं। ठीक उसी तरह की जिंदगी लोग जमीन के अंदर बसे इस गांव में भी लोग जी रहे हैं। इस गांव की सबसे खास बात यह है कि यहां दस्तक देते ही कोई भी शख्स एक अजीब-सी खामोशी की गिरफ्त में आ जाता है, जिसकी कल्पना करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है। मिली  जानकारी के मुताबिक, पिछले कुछ वर्षों से यहां रहने वाले लोगों की संख्या में भी इजाफा दर्ज किया जा रहा है। मौजूदा वक्त में यहां १५ हजार से भी अधिक लोग रहते हैं। 

आसानी नहीं है यहां की जिंदगी   

वैसे तो यहां हर प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध हैं, लेकिन इसके बावजूद भी यहां लोगों के लिए जिंदगी जीना उतना आसान नहीं है। हालांकि, जिस तरह की  सुविधाएं पृथ्वी के ऊपर मौजूद है। मसलन, इंटरनेट, मोबाइल फोन, स्कूल कॉलेज इस तरह की सारी सुविधाएं उस गांव में भी उपलब्ध है, मगर इसके बावजूद भी लोगों के लिए यहां जिंदगी जीना थोड़ा इसलिए मुश्किल हो जाता है, क्योंकि यहां गर्मियों में तापमान सहन की सीमा से कुछ ज्यादा ही बढ़ जाता है और सर्दियों के मौसम में तापमान कम हो जाता है। ऐसे में उन सभी लोगों को अत्याधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है, जिन्हें सामान्य तापमान में रहने की आदत हो चुकी है। आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि पृथ्वी की पर इंसान के अनुकूल तापमान स्वत: ढल जाता है, लेकिन उस गांव में ऐसा नहीं होता है।