नेनीताल में घुमने का वो पर्यटक स्थल जहां का दृश्य देखने दूर-दूर से आते हैं लोग

भारत में कई ऐसी जगह है जहां घुमना लोगों को काफी पसंद आता है. हमारी धरती पर कई जगह तो ऐसी है जहां कई रहस्य दबे हैं, तो कई जगह ऐसी भी है जहां की सुंदरता लोगों के आकर्षण का केंद्र बन जाती है,

नेनीताल में घुमने का वो पर्यटक स्थल जहां का दृश्य देखने दूर-दूर से आते हैं लोग

भारत में कई ऐसी जगह है जहां घुमना लोगों को काफी पसंद आता है. हमारी धरती पर कई जगह तो ऐसी है जहां कई रहस्य दबे हैं, तो कई जगह ऐसी भी है जहां की सुंदरता लोगों के आकर्षण का केंद्र बन जाती है, और यह आकर्षण लोगों को इस कदर अपनी ओर खींचता है कि प्राकृति की सुंदरता की तस्वीर लोगों के जहन में इस बस जाती है. कुछ ऐसी ही लुभावनी तस्वीर है स्नो-व्यू की, जो नेनीताल में उपस्थित है. नेनीताल में उपस्थित इस दृश्य को देखने लोग दूर-दूर से आते हैं, और प्राकृति के इस दृश्य को अपने जहन में बसा लेते हैं. 

स्नो-व्यू का मोहक दृश्य दूध जैसी बर्फ से ढका हिमालय मन को लुभा लेने वाला दृश्य की आंखों के सामने ला देने वाला है. इस नैनीताल दर्शनीय स्थल को देखकर किसी का भी मन यकीनन नहीं भर पाएगा, इसलिए इस मौके पर नैनीताल की फोटो लेना कोई भी भूल ही नहीं सकता. समुद्र तल से 2270 मीटर ऊँचा यह बिंदु यात्रियों के बीच बेहद लोकप्रिय स्थान है. यहां ऐसा प्रतीत होता है कि मानो हाथ ऊपर उठाते ही आपकी मुट्ठी में बादल कैद हो गए हों. ऊँचे बर्फीले पहाड़ और ऊपर होगी बादलों की सफ़ेद चादर साफ दिखाई देती है.

यह स्थल नैनीताल शहर से 2.5 किमी की दूरी पर स्थित है. दर्शक रोपवे या किराए के वाहन के द्वारा यहां तक पहुंच सकते हैं. यह ‘शेर-का-डंडा’ रिज के शीर्ष पर स्थित है और शक्तिशाली हिमालय पर्वतमाला के सम्मोहित कर देने वाले दृश्यों का नज़ारा प्रस्तुत करता है. स्नो-व्यू से सबसे अच्छा परिदृश्य अक्टूबर और नवम्बर के महीने में देखने को मिलता है, जब पूरा क्षेत्र बर्फ से ढक जाता है. इस स्थल पर मार्बल पत्थर से बना हुआ एक छोटा मंदिर भी है जो हिंदू देवी ‘मुंडी’ को समर्पित है. इस मंदिर में दुर्गा, शिव, सीता, राम, लक्ष्मण और हनुमान की तरह अन्य हिंदू देवी देवताओं की तस्वीर भी स्थापित की गई हैं. पर्यटक, स्नो-व्यू के आगे स्थित गानदेन कुनक्यॉप लिंग बौद्ध मठ की यात्रा भी कर सकते हैं.