एक तरफ जनता कर्फ्यू , दूसरी तरफ फेका गया पेट्रोल बम

कोरोना वायरस के फैलने का डर जैसे शाहीन बाग में बैठे लोगों में है ही नहीं. इन्ही प्रदर्शन के बीच ही शाहीन बाग चौंकाने वाली घटना सामने आई है. यहां प्रदर्शन पर दौरान पेट्रोल बम मिलने की सूचना मिली है.

एक तरफ जनता कर्फ्यू , दूसरी तरफ फेका गया पेट्रोल बम

एक ओर जहां जनता कर्फ्यू के चलते देश में सन्नाटा पसरा हुआ है, वहीं दूसरी ओर शाहीन बाग में लोगों का धरना प्रदर्शन जारी है. सरकार का समर्थन करने के लिए जहां लोग घरों में कैद हो गए हैं, वहीं शाहीन बाग में लोग धरना प्रदर्शन कर हंगामा कर रहे हैं. 

कोरोना वायरस के फैलने का डर जैसे शाहीन बाग में बैठे लोगों में है ही नहीं. इन्ही प्रदर्शन के बीच ही शाहीन बाग चौंकाने वाली घटना सामने आई है. यहां प्रदर्शन पर दौरान पेट्रोल बम मिलने की सूचना मिली है.
प्रदर्शनकारीयों ने आरोप लगाया गया है कि धरनास्थल के समीप पेट्रोल बम फेंका गया है. हालांकि इस घटना को अंजाम किसने दिया है  अभी तक इसकी  कोई जानकारी सामने नहीं आई है. 

दरअसल प्रदर्शन स्थल पर बैरिकेड के पास प्लास्टिक के एक बोतल में कुछ विस्फोटक सामान भी बरामद किया गया है. इस मामले पर विशेष पुलिस आयुक्त का कहना है कि कोई बड़ी घटना नहीं हुई है. शाहीन बाग प्रदर्शन स्थल पर जनता कर्फ्यू के दिन रविवार को केवल 4-5 महिलाएं ही बैठी हुई हैं.

प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए SC में सुनवाई

देश में कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए प्रदर्शनकारियों को हटाने की मांग की जा रही है. जिसके लिए सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई है. मिली जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट इस मुद्दे पर 23 मार्च को सुनवाई करेगा.

बता दें कि शाहीन बाग में बैठे लोग पिछले 3 महीने से CAA को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. हालांकि कई बार इन्हे वहां से हटाने की कोशिश भी की गई, लेकिन अपनी जिद्द पर अड़िग यह लोग देश में फैली महामारी के बीच भी प्रदर्शन कर रहे हैं.