आखिर क्यों दक्षिण अफ्रीका के दंगों में भारतीयों को निशाना बनाया जा रहा है? जानिए

दक्षिण अफ्रीका इन दिनों तनावपूर्ण माहौल का सामना कर रहा है। देश के कई हिस्सों में सामूहिक दंगे की चपेट में आने से अब तक 212 लोगों की मौत हो चुकी है। मौजूदा स्थिति में वहां जानमाल की बुरी तरह से हानि हो रही है। 

आखिर क्यों दक्षिण अफ्रीका के दंगों में भारतीयों को निशाना बनाया जा रहा है? जानिए
South Africa

दक्षिण अफ्रीका इन दिनों तनावपूर्ण माहौल का सामना कर रहा है। देश के कई हिस्सों में सामूहिक दंगे की चपेट में आने से अब तक 212 लोगों की मौत हो चुकी है। मौजूदा स्थिति में वहां जानमाल की बुरी तरह से हानि हो रही है। 
दंगों पर नियंत्रण के लिए दक्षिण अफ्रिका की सरकार ने सेना को मैदान में उतार दिया है, कई आरोपियों के गिरफ्तार होने के बावजूद भी दंगाईयों से पार पाने में सरकार नाकाम दिखाई दे रही है। हैरानी की बात ये है कि इन दंगों में खासकर भारतीयों को निशाना बनाया जा रहा है। अब तक भारतीय मूल के कई दक्षिण अफ्रीकी लोगों के स्टोर को आग के हवाले कर दिया गया है। 

दक्षिण अफ्रीका में दंगों से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाला प्रांत क्वाज़ुलु-नताल और गौतेंग है। इन दोनों प्रांतों में अब तक 180 लोगों की दंगों के दौरान मौत हो गई है और इस आरोप में लगभग 1692 लोगों को हिरासत में लिया गया है। वहीं दूसरी तरफ गौतेंग प्रांत में मृतकों की संख्या बढ़कर 32 हो गई है। इसके लिए भी 137 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और कुल मिलाकर यहां 862 लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। जानकारी के लिए बता दें कि ये दंगे दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा के कारावास के बाद भड़के थे। 

भारतीयों को बनाया जा रहा है निशाना

हिंसापूर्ण माहौल के बीच खासकर भारतीय मूल के दक्षिण अफ्रीकी नागरिकों को निशाना बनाया जा रहा है। अब तक कई भारतीयों के स्टोर को आग के हवाले किया जा चुका है। भारतीयों को निशाना बनाने के पीछे की वजह वहां के गुप्ता बंधुओं को बताया जा रहा है। दरअसल, जैकब जुमा 2009 से 2018 तक दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रह चुके हैं। इस दौरान वहां गुप्ता बंधुओं का दबदबा था। पचास अरब के भ्रष्टाचार को लेकर पूर्व राष्ट्रपति मुख्य आरोपी हैं और इसमें तीन गुप्ता बंधु भी शामिल थे। बताया जा रहा है कि जुमा ने गुप्ता बंधुओं की निकटता की वजह से भ्रष्टाचार को अंजाम दिया था। भारतीयों पर हमला होने की ये ही प्रमुख वजह बताई जा रही है।